×
userImage
Hello
 Home
 Dashboard
 Upload News
 My News
 All Category

 News Terms & Condition
 News Copyright Policy
 Privacy Policy
 Cookies Policy
 Login
 Signup
 Home All Category
Sunday, Oct 24, 2021,

Defence & Security / / India / Chandigarh /
सुरक्षा बलों और नक्सलियों के बीच गोलीबारी, तीन की हुई मौत

By  Public Reporter
Tue/May 18, 2021, 06:03 AM - IST -249

  • इस हमले में सुरक्षा बलों के 22 जवान शहीद हुए थे।
  • इधर ग्रामीण नंदा राम मरकाम ने दावा किया है इस घटना में नौ लोगों की मौत हुई है तथा 50 से अधिक लोग घायल हुए हैं
/

बीजापुर/ हाल ही में छत्तीसगढ़ के नक्सल प्रभावित सुकमा और बीजापुर क्षेत्रों में नक्सलियों और सुरक्षाकर्मियों के साथ मुठभेड़ घटनाएं बढ़ गईं हैं। छत्तीसगढ़ के नक्सल प्रभावित सुकमा और बीजापुर जिले के सीमावर्ती क्षेत्र में सुरक्षा बलों और नक्सलियों के बीच हुई गोलीबारी में तीन लोगों की मौत हो गई है तथा एक अन्य घायल हो गया है। इधर ग्रामीणों ने इस घटना में नौ लोगों के मारे जाने का दावा किया जा रहा है।
बस्तर क्षेत्र के पुलिस महानिरीक्षक पी सुंदरराज ने सोमवार को बताया कि सुकमा और बीजापुर जिले के सीमावर्ती क्षेत्र में स्थित सिलगेर गांव में बने नए पुलिस शिविर के करीब सुरक्षा बलों और नक्सलियों के बीच हुई गोलीबारी में तीन लोगों की मौत हो गई है। सुंदरराज ने बताया कि अभी तक यह जानकारी नहीं मिली है कि घटना में नक्सलियों की मौत हुई है या ग्रामीणों की।
घटना में नक्सली मारे गए या ग्रामीण के लोग, इसकी जानकारी नहीं
पुलिस महानिरीक्षक ने बताया कि बाद में जब मामला शांत हुआ तब सुरक्षा बलों ने घटनास्थल की तलाशी ली। इस दौरान वहां से तीन पुरुषों का शव बरामद किया गया। वहीं इस घटना में एक व्यक्ति घायल हुआ है। घायल को बीजापुर के अस्पताल में भर्ती कराया गया है। घटना में मारे गए लोगों की पहचान नहीं हो पाई है। अभी तक यह जानकारी नहीं मिली है कि घटना में नक्सली मारे गए या ग्रामीण। उन्होंने बताया कि घटना के बाद पुलिस और सीआरपीएफ के वरिष्ठ अधिकारी घटनास्थल पर पहुंच गए थे। इस दौरान उन्होंने घटनास्थल का जायजा लिया तथा ग्रामीणों से बात की।
ग्रामीण लोगो का दावा, नौ की हुई मौत
इधर ग्रामीण नंदा राम मरकाम ने दावा किया है इस घटना में नौ लोगों की मौत हुई है तथा 50 से अधिक लोग घायल हुए हैं। मरकाम ने कहा कि ग्रामीण क्षेत्र में स्कूल, आंगनबाड़ी केंद्र और अस्पताल की मांग कर रहे है न कि पुलिस शिविर की।
आपको बता दें कि बीजापुर और सुकमा जिले का यह सीमावर्ती क्षेत्र नक्सलियों का सबसे  प्रभाव वाला क्षेत्र माना जाता है। सिलगेर गांव सुकमा जिले में है। यहां से लगभग 10 किलोमीटर दूर जोनागुड़ा गांव के करीब नक्सलियों ने तीन अप्रैल को सुरक्षा बलों पर हमला कर दिया था। इस हमले में सुरक्षा बलों के 22 जवान शहीद हुए थे।बता दें कि बीजापुर और सुकमा जिले का यह सीमावर्ती क्षेत्र नक्सलियों का प्रभाव वाला क्षेत्र माना जाता है। सिलगेर गांव सुकमा जिले में है। यहां से लगभग 10 किलोमीटर दूर जोनागुड़ा गांव के करीब नक्सलियों ने तीन अप्रैल को सुरक्षा बलों पर हमला कर दिया था। इस हमले में सुरक्षा बलों के 22 जवान शहीद हुए थे।

By continuing to use this website, you agree to our cookie policy. Learn more Ok